हाई कोर्ट के आदेशों को हाईवे पर दौड़ रहे जुगाड़ खुलेआम लगा रहे हैं पलीता आम आदमी की जिंदगी के साथ स्कूली बच्चों की जिंदगी से भी खिलवाड़ कर रहे जुगाड़ संचालक

जिला हापुड़

संवाददाता भूपेंद्र वर्मा

गढ़मुक्तेश्वर/ तहसील गढ़मुक्तेश्वर क्षेत्र में एनएच 9 पर दौड़ने वाले जुगाड़ वाहन हाईकोर्ट के आदेशों को खुलेआम लगा रहे हैं पलीता जबकि 4 वर्ष पूर्व हाईकोर्ट के तलक तेवर आदेश है कि यूपी पुलिस जुगाड़ वाहनों को पकड़कर उन्हें कबाड़े में कटवा कर उनके मालिक की सहमति लिखित रिपोर्ट हाईकोर्ट को पेश करें जिसके चलते यूपी पुलिस ने अपने अपने क्षेत्र में इन जुगाड़ वाहनों को पकड़ कर कबाड़े में कटवाने का कार्य किया था उस समय तो यह जुगाड़ भूमिगत हो गए थे लेकिन 2 वर्ष से फिर कुकुरमुतो की तरह हाईवे पर दौड़ते नजर आ रहे हैं यह जुगाड़ वाहन जहां आम आदमी की जिंदगी से खिलवाड़ कर रहे हैं वहीं जुगाड़ वाहनों को जुगाड़ संचालकों एवं स्कूली संचालकों द्वारा कम किराए पर लगाकर स्कूली बच्चों को लाने ले जाने का कार्य कर रहे हैं देखने योग्य बात यह है कि जब इनसे कोई घटना दुर्घटना हो जाती है तो इन पर कोई किसी कंपनी का मैन्युफैक्चरिंग या कोई रजिस्ट्रेशन नंबर तो होता नहीं है जिसके आधार पर इनके द्वारा दुर्घटना का शिकार आदमी इन पर क्लेम कर सके अब ऐसी स्थिति में जुगाड़ संचालक अपने जुगाड़ को छोड़ देता है यदि इस पर कोई रजिस्ट्रेशन नंबर होता है तो इसके मालिक का पूरा खाका छानने में शासन प्रशासन के अधिकारियों को कोई दिक्कत नहीं होती है जब इस पर कोई रजिस्ट्रेशन नंबर ही नहीं है तो शासन प्रशासन के आला अधिकारी या परिवहन के आला अधिकारी किसके विरुद्ध कार्रवाई करेंगे इसलिए यह बेखौफ होकर तोड़ते हैं एनएच हाईवे 9 अब देखना यह है कि उत्तर प्रदेश परिवहन विभाग ऐसे वाहनों के विरुद्ध क्या कार्रवाई करता है।