देश की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस को सीएम योगी ने दिखाई हरी झंडी

लखनऊ से संवाददाता सुमित महाजन की रिपोर्ट

लखनऊ जंक्शन से नई दिल्ली के लिए चलने वाली आईआरसीटीसी की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। यह देश की पहली प्राइवेट ट्रेन है जिसका संचालन पूर्ण रूप से आईआरसीटीसी करेगी। शुक्रवार को तेजस से यात्रा करने वाले पैसेंजरों को कैब-वे से एंट्री नहीं मिली बल्कि उन्हें स्टेशन के मुख्य गेट से प्रवेश करना पड़ा।

देश की पहली कारपोरेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस में पैसेंजरों के लिए विमानों जैसी सुविधाएं हैं। इस स्पेशल ट्रेन की संख्या है 00501। ट्रेन कानपुर व गाजियाबाद से होते हुए नई दिल्ली तक जाएगी जबकि ट्रेन नियमित रूप से छह अक्टूबर से चलनी शुरू होगी।

आईआरसीटीसी की ओर से ट्रेन की पहली यात्रा करने वाले पैसेंजरों को कॉम्प्लीमेंट्री लंच दिया जाएगा। साथ ही गिफ्ट भी दिए जाएंगे। उद्घाटन कार्यक्रम में सीएम के साथ रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वीके यादव, आईआरसीटीसी सीएमडी एमपी मल, पूर्वोत्तर रेलवे के महाप्रबंधक राजीव अग्रवाल, आईआरसीटीसी के सीआरएम अश्विनी श्रीवास्तव सहित कई रेलवे अधिकारी उपस्थित रहे।

पहले पहुंचे स्टेशन, कैब-वे रहेगा बंद

शुक्रवार को उद्घाटन समारोह के चलते लखनऊ जंक्शन पर चारबाग की ओर से जाने वाले यात्री कैब वे का इस्तेमाल नहीं कर सके। कैब वे बंद दोपहर 12 बजे तक बंद रहेगा। पैसेंजर जंक्शन के मुख्य गेट से प्रवेश कर सकते हैं। साथ ही आलमबाग की ओर से आने वाले यात्री मवैया की ओर से कैबवे के रास्ते आरपीएफ मालगोदाम चौकी के सामने गाड़ी पार्क कर प्लेटफॉर्म पर पहुंच सकते हैं।

c p